क्या है जनता कर्फ्यू ? मोदी मंत्र | PM मोदी के द्वारा जनता से किए गए 9 आग्रह

क्या है जनता कर्फ्यू  मोदी मंत्र 

PM  मोदी के द्वारा जनता से किए गए  9 आग्रह 

  • 22 मार्च रविवार को क्या होगा 
  • क्या है जनता कर्फ्यू 
  • जनता के क्या कर्तव्य 
  • PM मोदी के मोदी मंत्र 
  • कोरोना की भारत से लड़ाई 
  • क्या भारत में नहीं आएगा कोरोना वायरस 
  • भारत में कितने है कोरोना के रोगी 
  • क्या वो अपनी जान बचा सकते हैं 


19 मार्च को जब देश के प्रधानमंत्री रात को 8 बजे बोलते है की मुछे जनता से सीधे बात करनी है तब देश में हलचल हो गयी |  
क्योंकि जनता को लग रहा था की कोई महत्व पूर्ण घोसणा होगी और जनता का यह वहम सही साबित हो गया PM मोदी ने जनता को कोरोना से लड़ने के उपाय बताये तथा अन्य जाँच के तरिके दिए मोदी की यह बातचीत काफी लम्बी चलती गयी हम देखते है



PM मोदी  के जनता से किये गए आग्रह –

  1. प्रत्येक भारतवासी सजग (सचेत) रहे, सतर्क रहे, आगे आने वाले कुछ सप्ताह तक, जब तक बहुत जरूरी न हो अपने घर से बाहर न निकलें। तथा आपने परिवार को इसकी जानकारी दे| 
  2. 60 से 65 वर्ष की आयु के तथा इसके ऊपर के व्यक्ति घर के भीतर ही रहें। क्योकि उनके ऊपर इसका अधिक सक्रमण हो रहा है | 
  3. इस रविवार, यानि 22 मार्च को, सुबह 7 बजे से लेकर रात को 9 बजे तक, जनता-कर्फ्यू का पालन करें।
  4. दूसरों की सेवा कर रहे (पुलिस,फौजी,हवाई कर्मी,अगनिसामक,हस्पतालो के सभी स्टाफ……)  लोगों का 22 मार्च की शाम को 5 बजे 5 मिनट तक करतल ध्वनि के साथ आभार व्यक्त करें।
  5. रूटीन चेक-अप के लिए अस्पताल जाने से बचें,क्योकि आप वहा पर इसके शिकार हो सकते है  जो सर्जरी बहुत आवश्यक न हो, उसकी तारीख आगे बढ़वाएं इसमें आपका ही भला होगा।
  6. वित्त मंत्री के नेतृत्व में गठित हुए Covid-19 Economic Response Task Force से आवश्यक फैसले लेने का आग्रह।
  7. व्यापारी जगत से तथा उच्च आय वर्ग से यह निवेदन है की दूसरों का वेतन न काटने का सतर्क आग्रह।
  8. देशवासियों से सामान संग्रह न करने,जितनी आवस्यकता है उतना ही खरीद करे, Panic Buying न करने का आग्रह।
  9. आशंकाओं और अफवाहों से बचने का आग्रह,यह आपके भय को बड़ा सकती है ।PM  मोदी के इन आग्रहों का पालन हमारा कर्तव्य है 

22 मार्च रविवार को जनता कर्फ्यू 

              जनता कर्फ्यू जनता के द्वारा जनता के लिए लगाया  गया  कर्फ्यू है जो की भारत को इस महामारी से लड़ने की शक्ति देगा | आपने घर से बाहर ना निकले आपने बच्चो को भी अन्दर रखे 
विशेष कर 60 वर्ष तथा इसके ऊपर के लोगो पर इसका अधिक सक्रमण हो सकता है  

इसके लिए कोई क़ानूनी दंड नहीं है पर इसके पालन  हमारा फ़र्ज़ है 

Leave a Comment